Monday, April 27, 2009

If you like my poems let them 'अगर तुम्हें पसंद आयीं मेरी कवितायेँ' - e.e. cummings

अगर तुम्हें पसंद आयीं मेरी कवितायेँ,
तो उनको चलने देना, शाम के समय,
अपने से दो कदम पीछे।

फिर लोग कहेंगे
"इस रास्ते पर हमने देखा था इक राजकुमारी को
जाते हुए अपने प्रेमी से मिलने (बस रात होने
ही वाली थी) और उसके संग, लंबे और मूर्ख दास।"

trans. from English by Akhil Katyal, 28th April, 2009

Saturday, April 18, 2009

Lie down in the park

Lie down in the park
so that your hair
play with grass
an' with your hand
shield your eyes
from the sun;
then turn around
a little for ease,
sinking in the green,
your shirt slipping
on your waist, an'
through your fingers
sunshine tripping in.

Saturday, April 11, 2009

तुम सोचते हो - II


'तुम सोचते हो कि आर्मी में हैं तो बस तय हो गया

कि सबको मारना चाहते हैं या ख़ुद शहीद हो जाना चाहते हैं,

पर क्या जानों तुम, कोई ज़ंग नहीं लड़ना चाहता;

जब दुश्मन की तरफ़ तीन सौ थे और हमारी तरफ़ दस,

तो किसी ने राष्ट्र प्रेम की दुहाई नहीं दी थी,

किसी ने मर्दानगी की बात नहीं की थी,

उन दस को तो रम पिला कर बस आगे भेज दिया था।'

Wednesday, April 8, 2009

Love talk in London

I speak to you in another accent
so that you begin to grasp
only after a second, so that
the drift of what I say lags
a little behind my speaking,
and when you reply, you do
with half an expectation
of a misunderstanding.