Sunday, July 21, 2013

Three poems : Sunita Katyal

tr. from three Hindi poems of Sunita Katyal

दुआ 

खुदा कबूल करता है
दुआ जब दिल से होती है
बढ़ी मुश्किल है य़े,
बढ़ी मुश्किल से होती है। 

Prayer

A prayer is answered only 
when it comes from the 
heart, that's the tricky bit, 
tricky from the start.


चाहत

चाहत जिनसे होती है
हमें याद उन्ही की आती है,
वो ही प्रीत बन जाती है
न मिले तो हमें रुलाती है।  

Love

Those we love
we remember, memory
becoming love, ties
tears to our eyes.   


पुरवैय्या

यादों ने दुखी किया रे,
दिल हर समय उन्हें ही चाहे
ऐ पुरवैय्या ढून्ढ के लाओ
न जाने वो कहाँ रे। 

East Wind

Memory makes me blue
my heart is bent on you,
East wind, go find him,
where's he vanished to?

Sunita Katyal

3 comments:

sunita said...

i feel proud of u my dear AKHIL....

SManrique said...

Spellbindingly beautiful..

A.K. said...

These are so beautiful ! :)