Saturday, April 12, 2014

जंगपुरा एक्सटेंशन के 'पैरिस' सलून में

आजकल केजरीवाल को कितनी सीटें
मिलेंगी, इसकी बात चलती है.

शहनाज़ हुसैन क्रीम के फेशियल
के दौरान, किसी तरह आँख खोल कर
जब मैं देखना चाहता हूँ की

ये मेरा 'आप' का साथी समर्थक कौन है,
जो की अब तक भा-जा-पा और कांग्रेस
के चंगुल से बचा हुआ है,

तो पहले तो 'हाथ' के चुनाव चिन्ह
से गढ़ी एक भगवा और हरी घड़ी दिखती है,
नाइ की दूकान की दीवार पर टंगी हुई,

उसमें से कोई कांग्रेसी महोदय बड़ी ही
बेगुनाही से जनता की ओर देखते हुए और उन्हें
सम्बोधित करने की दशा में फोटो खिचवाते
हुए, और उनके साथ में सोनिआ माई

मैं पूछता हूँ नाइ से, की 'भाई, ये घड़ी
कहाँ से आई? और इसमें ये सोनिआ गांधी
इतना क्यों मुस्कुरा रही है,'

तो वो बोला 'पिछली बार
कांग्रेस वालों ने दी थी, अब उन्हीं का
बुरा समय दिखा रही है.'  

No comments: