Friday, July 11, 2014

"शांति फिर से कश्मीर घाटी में लौट आई"

कश्मीर राजधानी श्रीनगर में 'बाइस घंटे की मुठभेड़
समाप्त हुई, दो आतंकवादी मारे गए. घाटी में अब शांति
लौट आई है.'' "आतंकवादियों के अंतिम संस्कार में हजारों
शामिल हुए, सबने शोक मनाया," और शांति जो अस्थायी
रूप से कहीं चली गयी थी, वो फिर से घाटी में लौट आई.
''कश्मीरी गांव में इंडियन आर्मी ने लश्कर कमांडर की
खोज के दौरान तीन घर जला दिए," लेकिन आपको यह
जान कर ख़ुशी होगी की इस मामूली से विघ्न के बाद
शांति, अब वहाँ फिर से बहाल है. ''अनंतनाग में JKLF
की एक रैली रोकी गयी," और अनंतनाग के लोगों को
शांति का स्वाद फिर से चखाया गया. "पुलवाम के जंगल
में एक अज्ञात मानव कंकाल पाया गया" लेकिन वो कंकाल
होने के नाते चाह कर भी अशांति नहीं फैला सका. इस सब के
बीच पर्यटक कश्मीर में भारी मात्रा में उमड़ रहें हैं, और उनके
साथ, शांति, हमारी प्यारी शांति, फिर से घाटी में लौट रही है.

No comments: