Friday, March 25, 2016

दुआ, इन दिनों

सोच में आज़ादी हो,
प्लेट पर खाना हो,
किस्म-किस्म के लोगों
का आना-जाना हो,
बात-चीत हो बहस में,
प्रेम हो, क्रोध हो, जिज्ञासा
हो हर रहस्य में, नाचना हो,
गाना हो, पन्नों में लिपटा हर
ख़याल हो पुस्तकालय में,
विश्व हो विश्वविद्यालय में

(एच.सी.यू के लिए)

No comments: