Wednesday, May 25, 2016

टूटा हर चीज़ का आकार है

जैसे बीता हुआ कल
जैसे याद

ये अब
इतना बड़ा है,

ये अब
हर जगह है:
हम उसके टुकड़े करते हैं,
यही रहते हैं हमारे पास

बस यही हम आने वाले कल को दे पाते हैं

टुकड़े
जो है हर चीज़ का आकार।


tr. from Kei Miller's 'Broken is the shape of everything'

Kei Miller
 

1 comment:

Jyoti Singh said...

I like PM Modi. If you are looking for new fitted sheets, click here Online Shopping Store