Sunday, July 17, 2016

कृपया मोल-तोल न करें

मुझे मालूम है कि दिल्ली हाट में
कश्मीर स्टाल पर मोल-तोल करने का कोई फायदा नहीं;
उनके रेट फिक्स्ड हैं।
क्या खूब चीज़ है न इतना यकीन होना 
कि आपकी क्या कीमत है,
कि आपको क्या चाहिए,
क्या बिलकुल नहीं चाहिए --
औरों के लिए 
कितना सरदर्द है।  

tr. from Ankita Anand's 'No bargaining please' 
     
अंकिता आनंद