Sunday, March 19, 2017

रामजस के मेरे एक शिक्षक मित्र बता रहे थे कि हाल

ही में दिल्ली विश्वविद्यालय के छात्रों और शिक्षकों को
जब ABVP ने पीटा, तो उनमें से एक कार्यकर्ता ने
सबको देख कहा "अरे यार इनमें से आधे तो छक्के हैं।"

यू.पी. के इक्कीसवे मुख्य मंत्री योगी आदित्यनाथ ने
कुछ साल पहले गोरखपुर में अपने समर्थकों से ये कहा
कि मुसलमानों के खिलाफ लड़ाई में केवल ताकतवर
ही हिस्सा ले सकते हैं, कोई शिखंडी या हिजड़े नहीं।

कहानी की सीख - इस दौर के शिखंडी बनो। उनकी
मर्दानगी को ठुकराओ। छक्के बनो। ताकत की इस गलत
व्याख्या को अस्वीकार करो। जिनसे लड़ने को कहें उनसे
प्यार करो। हिजड़े बनो। नफरत पर धिक्कार करो।

Wednesday, March 15, 2017

The Rule of Law

When General Tikka Khan,
"the Butcher of Bengal",

who oversaw, in Dhaka,
one of the bloodiest wars

of his century, died years 
later in 2002, of a protracted

illness, he was laid to rest 
with full military honours in an

army graveyard in Rawalpindi, 
and a former Prime Minister of

Pakistan described him as 
a hard worker and someone

who had always, in his time, 
respected "the rule of law".

Monday, March 13, 2017

जंगपुरा की सड़क पर

चलते-चलते जब आंटी ने उसको देखा,
तो अपने साथ चलती बेटी से पूछा -
"इसने लड़कियों के कपड़े क्यों पहने हैं?"

बेटी ने पहले माँ को कड़ी नज़र से देखा,
फिर उसको, हल्के से, आधा सेकंड, फिर 
माँ से कहा - "उसने अपने कपड़े पहने हैं।"

Saturday, March 11, 2017

होली के दिनों

लखनऊ के मोहोल्लों में 
देख-देख के चलना पड़ता है।

गली-गली के खिड़कियों और बरामदों 
में बच्चे हाथ में पानी-वाले गुब्बारे लिए 
सिपाहियों की तरह तैनात रहते हैं।

चलते-चलते 
सड़क पर खतरे का अनुमान 
पानी के घपाच-सपाच धब्बों से लगाया जाता है -

जहाँ जितने ज़्यादा, वहां उतना संकट।

गुब्बारों में पानी 
कभी हरा तो कभी नीला
तो कभी केसरिया होता है।

आज कैसी होली चढ़ी है,
खतरा नापने लगे
गोया पूरी सड़क गीली है।

मम्मी-डैडी

सपा-कांग्रेस को वोट दिए थे, कहे
सोच समझ के किया था, पर अब 
मम्मी बोलीं, "अगर पड़ोस वाले पूछें, 
तो कहना भा-जा-पा को दिया था।"


Fiery but

doomed first-love - Check.
Friends who
hold you - Check.
Finger-wagging at the
Delhi skies - Check.
So far, so close,
but now, Amrita,
where's my Imroz?